स्टाफ सिलेक्शन कमीशन (एसएससी) हर साल उन हजारों युवाओं के सपने को पूरा करता है, जो सरकारी नौकरी की ख्वाहिश रखते हैं। खासकर उन युवाओं को एक प्लेटफार्म मुहैया कराता है, जो केंद्रीय विभागों में नौकरी का सपना देखते हैं। इस आर्टिकल में एसएससी के बारे में विस्तार से बताया जा रहा है। परीक्षा के लिए आयु सीमा, शैक्षणिक योग्यता और पात्रता से जुड़े पहलुओं को भी साझा किया जाएगा। सिलेबस और एग्जाम पैटर्न के बारे में भी बताया जा रहा है। पूरी जानकारी हासिल करने के लिए आर्टिकल को अंत तक पढ़ें।

SSC calendar

एसएससी का उद्देश्य

एसएससी यानी कर्मचारी चयन आयोग एक सेलेक्शन बॉडी है, जो केंद्र के अधीन है। आयोग का काम केंद्रीय विभागों के लिए “बी” और “सी” श्रेणी के कर्मचारियों का चयन करना है। एसएससी की स्थापना 1977 में हुई थी। परीक्षार्थी अपनी योग्यता और आयोग के तय नियमों के अनुसार एसएससी की परीक्षाओं में हिस्सा ले सकते हैं। परीक्षा के सफल आयोजन के लिए राज्य सरकारों की मदद भी ली जाती है।

एसएससी की परीक्षाएं

सीएचएसएल: कंबाइंड हायर सेकेंडरी लेवल

सीजीएल: कंबाइंड ग्रेजुएट लेवल

जेई:  जूनियर इंजीनियर

स्टेनो: स्टेनोग्राफर

चार विषयों पर पकड़ जरूरी

अभ्यर्थियों के लिए जरूरी है कि वे एसएससी के एग्जाम पैटर्न को समझें। एग्जाम फार्मेट से जुड़े नोट्स तैयार करें। सिलेबस की जानकारी हासिल करें। बिना सिलेबस तैयार करे परीक्षा को क्लियर करना मुश्किल है। एसएससी कीपरीक्षाओं में चार विषयों पर आधारित सवाल पूछे जाते हैं। सभी चार विषयों की जानकारी होनी चाहिए। अगर इन विषयों पर पकड़ बना लिया तो एसएससी की परीक्षा क्लियर करना आसान हो जाएगा।

रीजनिंग: परीक्षा के लिए रीजनिंग पर ध्यान देना जरूरी है। बाजार में ढेर सारी किताबें हैं, जिन्हें आप खरीद सकते हैं। परीक्षा में आमतौर पर पिछले दस साल के घटनाक्रम से जुड़े सवाल पूछे जाते हैं।

अंग्रेजी सामान्य: परीक्षा में अंग्रेजी सामान्य से जुड़े सवाल पूछे जाते हैं। पूरा फोकस व्याकरण पर होता है। रिक्त स्थान को भरना, वाक्य में गलती ढूंढना, वाक्य में सुधार करना, प्रीपोजीशन का इस्तेमाल करना, कंजक्शन को ठीक करना होता है।

संख्यात्मक अभियोग्यता: यह विषय मानसिक स्तर को चेक करने के लिए होता है। इसमें नंबर सिस्टम, बीजगणित, रेखागणित, क्षेत्रमिति, त्रिकोणमिति, सांख्यिकी चार्ट जैसी चीजों पर ध्यान देना होगा।

सामान्य जागरूकता: इस विषय में देश, दुनिया से जुड़े सामान्य सवाल पूछे जाते हैं, जिनकी जानकारी होना आवश्यक है। इसमें इतिहास, संस्कृति, भूगोल के अलावा सामान्य नीति और वैज्ञानिक अनुसंधान से जुड़ी चीजें शामिल हैं।

———————————————————————————————-

एसएससी परीक्षा के लिए पात्रता | SSC Exam Eligibility in Hindi

एसएससी की परीक्षाओं के लिए अलग-अलग पात्रता तय की गई है। परीक्षाओं में शामिल होने के लिए आमतौर पर इंटरमीडिएट की परीक्षा पास करना जरूरी है।

कुछ पदों के लिए हाईस्कूल पास अभ्यर्थियों को भी योग्यत ठहराया गया है। ज्यादातर परीक्षाओं के लिए ग्रेजुएशन जरूरी है।

एसएससी जेई की परीक्षा के लिए इंजीनियरिंग की पढ़ाई जरूरी है। मान्यताप्राप्त विश्वविद्यालय या कॉलेज से बीटीक की पढ़ाई आवश्यक है।

स्टेनोग्राफर के लिए टाइपिंग जरूरी है। टाइप टेस्ट भी लिया जाता है। नियम के अनुसार स्पीड होने पर ही अभ्यर्थियों का चयन होता है।

परीक्षा के लिए आयु सीमा

एसएससी जेई एग्जाम के लिए 18 से 32 साल के अभ्यर्थी शामिल हो सकते हैं। एससी-एसटी, ओबीसी वर्ग के छात्रों के लिए 5-15 साल तक की छूट है।

स्टेनोग्राफर पद की परीक्षा के लिए अभ्यर्थियों की उम्र 18-27 साल के बीच होनी चाहिए। एसएस-एसटी वर्ग के छात्रों के लिए उम्र में छूट का प्रावधान है।

सीएचएसएल की परीक्षा के लि अभ्यर्थियों की उम्र 18 से 27 साल के बीच होनी चाहिए। आरक्षण के दायरे में आने वाले परीक्षार्थियों के लिए उम्र में छूट का प्रावधान है।सीजीएल के लिए अभ्यर्थियों की उम्र 18 से 27 साल के बीच होनी चाहिए। सांख्यिकी अंवेषक जीआर के लिए 26 साल से अधिक नहीं होना चाहिए।